नए इंस्टिट्यूट(All India Institute of Protest Learning) की जरूरत है भारत में

एक इंस्टीट्यूट होना चाहिए जहां ये सिखाया जाए कि विरोध केसे करते है All India Institute of Protest Learning की स्थापना किया जाय जहा जो नेतागिरी या इलेक्शन लड़ना चाहते है उन्हें 1-2 साल का डिप्लोमा अनिवार्य होना चाहिए ।

इसकी जरूरत इसलिए हो रही है क्युकी अभी जो हमारे देश को विपक्षी दल है न इनके पास संख्या बल है न ही विरोध करने का तरीका ||

आपने भी सुना या देखा हो बहुत बार विरोध करने के लिए पुतला-दहन करते है खुद उसी के चपेट में आ कर हसी के पात्र बनते है, ना ही इनके स्लोगन इतने दमदार होते है न ही उनकी संख्याबल |

Image result for protesting against modi who burned

Protest gone horribly wrong: Congress workers set themselves on fire while trying to burn Modi effigy

अगर जनता अभी इनका विरोध नहीं देखेगी तो कैसे भविष्य में जनता कैसे राजनीती में रूचि लेगी |
इसी मुद्दे को लेकर हमे वहारत सरकार से अनुरोध है की आप एक All India institute of protest Learning की स्थापना किया जाय||

सत्ता पक्ष को भी प्रोटेस्ट करना पड़ता है, ये तर्क दिया जाता है की विपक्ष उन्हें काम नहीं करने दे रहा, ये अलग बात है पहले ये भी यही कहते थे ||

Image result for union minister protesting at gandhi statue

कई बार इसलिए भी विरोध करना पड़ता है क्युकी नेता चुप रहता है, कई बार इसलिए भी नेता हद से ज्यादा बोलता है ||
कई बार सच सामने लाने के लिए तो कई बार सच न सामने आ जाय इसलिए |

प्रोटेस्ट करना भी एक कला है, जो सभी को नहीं आता पर अगर इस इंस्टिट्यूट को बना दिया गया तो सभी को प्रेस्टेस्ट के नय व आसान तरिके सिखाया जायगा

आवेश में या ज्ञान के कमी से ऐसे विरोध किया जाता है जिससे जिनका वे विरोध कर रहे हो वंही तो कोई फर्क नहीं पड़ता ऊपर से उन्हें ही लेने के देने पड़ जाते है

बिना प्रोटेस्ट के राजनीती वैसे ही है जैसे बिना दूध के चाय

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s